General Science Questions in Hindi

प्रतियोगी परीक्षा के लिए ऑनलाइन सामान्य ज्ञान प्रश्न और उत्तर भारत में होने वाली विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए 10 बहुत महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्न और उत्तरसामान्य ज्ञान अधिकांश प्रतियोगी परीक्षाओं बैंकिंग, बीमा, SSC, रेलवे आदि, में एक महत्वपूर्ण सेक्शन माना जाता है। बाकी सेक्शन में सभी प्रतियोगी लगभग समान परफॉर्म करते है, सामान्य ज्ञान में आपकी तयारी ही किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के करीब ले जाती है ।

1. कौन-सी धातु अन्य धातुओं के साथ मिलकर अमलगम बनाती है ?
(A) सीसा
(B) पारा
(C) तांबा
(D) जस्ता

उत्तर-(B)

पारा (Hg) धातु, अन्य धातुओं से मिलकर अमलगम (पारद)  बनाती है।

2. कपड़े से स्याही और जंग के धब्बे छुड़ाने के लिए निम्नलिखित
में से किसका प्रयोग होता है?
(A) ऑक्जेलिक अम्ल का
(B ) एल्कोहल का
(C) ईथर
(D) मिट्टी का तेल

उत्तर-(A)

कपड़े में लगे स्याही एवं जंग के धब्बों को दूर करने में आक्जेलिक अम्ल का प्रयोग किया जाता है।

3. लकड़ी की आयु ज्ञात करने में सहायक है-
(A) यूरेनियम
(B) कार्बन-14
(C) पोलोनियम
(D) कोबाल्ट

उत्तर-(B)


लकड़ी की आयु ज्ञात करने में कार्बन-14 सहायक है। चूंकि पृथ्वी के सभी जीवित प्राणी वातावरण से गैसों का आदान- प्रदान करते रहते हैं, इसलिए उन सबकी कोशिकाओं में कार्बन-14 उसी स्तर तक पहुंच जाता है, जिस स्तर में वह वातावरण में होता है। जब प्राणी की मृत्यु होती है, तो उसकी कोशिकाओं में फंसा कार्बन-14 क्षीण होना शुरू हो जाता है। कार्बन की अर्द्ध आयु 5730 वर्ष है। इस प्रकार रेडियो सक्रिय कार्बन-14 की मात्रा माप कर यह गणना की जा सकती है कि उस प्राणी की मृत्यु के बाद से उस समय तक कितना समय बीता है?

4. अमोनियम क्लोराइड के जलीय विलयन की प्रकृति होगी-
(A) उदासीन
(B) अम्लीय
(C) क्षारीय
(D) रंगीन

उत्तर-(B)

अमोनियम क्लोराइड के जलीय विलयन परिवर्तन होता है- निम्नवत

NH4Cl (aq) + H2O (l) → HCl (aq) + NH4OH (l)

चूंकि HCL प्रबल और NH4OH दुर्बल क्षार है। अतः HCL
द्वारा मुक्त आयनों की संख्या, NH4OH द्वारा मुक्त OH
आयनों की संख्या से अधिक होगी। इन H+ आयनों की
अधिकता के कारण यह विलयन अम्लीय होता है।

5. पत्थरों एवं खनिजों में सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है-
(A) सिलिकॉन
(B) कार्बन
(C) हाइड्रोजन
(D) सोना

उत्तर-(A)



भूपर्पटी पर ऑक्सीजन के बाद सर्वाधिक पाया जाने वाला तत्व सिलिकॉन है। यह प्रतिशत मात्रा में लगभग 28.2% है। प्रकृति में यह रेत (Sand) एवं पत्थर के रूप में पाया जाता है ।

6. निम्नलिखित में से कौन-सी गैस का सर्वोच्च ऊष्मांक (highest calorific value) है?
(A) ब्यूटेन
(B) बायोगैस
(C) हाइड्रोजन
(D) मीथेन

उत्तर-(C)

हाइड्रोजन गैस का ऊष्मांक सर्वोच्च (highest calorific value) होता है।

7. पेट्रोलियम की गुणवत्ता प्रदर्शित की जाती है -
(A) सिनेट नंबर से
(B) एडिटिबस से
(C) ऑक्टेन नंबर से
(D) नॉक कम्पाउंड से

उत्तर-(C)



ईंधन का ज्वलन समय पूर्व होने से ऊर्जा ध्वनि के रूप
में नष्ट हो जाती है, जिसे अपस्फोटन कहते हैं। इसे ऑक्टेन संख्या से व्यक्त करते हैं। जिस ईधन की ऑक्टेन संख्या जितनी अधिक होती है, उसका अपस्फोटन उतना ही कम होगा और ईंधन उतना ही बेहतर माना जाता है। टेट्राएथिल लेड (TE.L.) एक अपस्फोटन रोधी पदार्थ है, जो पेट्रोल की ऑक्टेन संख्या (गुणकत्ता ) बढ़ा देता है।


8. जब लेड नाइट्रेट को गर्म किया जाता है, तो वह लेड मोनोऑक्साइड, नाइट्रोजन डाइऑक्साइड और ऑक्सीजन में विखंडित हो जाता है। यह अभिक्रिया एक उदाहरण है-

(A) द्विअपघटन अभिक्रिया (डबल डिकम्पोजिशन रिएक्शन) का
(B) संयुक्त अभिक्रिया (काम्बीनेशन रिएक्शन) का
(C) अपघटन अभिक्रिया (डिकम्पोजिशन रिएक्शन) का
(D) विस्थापन अभिक्रिया (डिस्प्लेसमेंट रिएक्शन) का

उत्तर-(C)

ऐसी अभिक्रिया जिसमें कोई पदार्थ दो या अधिक सरल पदार्थों में टूटता है, अपघटन या वियोजन अभिक्रिया (Decomposition Reaction) कही जाती है। लेड नाइड्रेट निम्नवत तीन पदार्थों में वियोजित या अपघटित होता है-
                                     
2Pb(NO3)2 (s) + heat -------> 2PbO (s) + 4NO2 (g) + O2 (g)

गर्म करने पर होने वाले वियोजन को ऊष्मीय वियोजन कहते हैं।

9. रेडियो कार्बन-डेटिंग....की उम्र ज्ञात करने के लिए प्रयुक्त
किया जाता है।
(A) ग्रहों
(C) शिशुओं
(B) जीवाश्मों
(D) चट्टानों

उत्तर-(B)


रेडियो कार्बन-डेटिंग जीवाश्मों (Fossil) की उम्र ज्ञात करने के लिए प्रयोग किया जाता है। जीवाश्मों में कार्बन पाया जाता है। कार्बन के दो समस्थानिक होते हैं। कार्बन (C'2) और कार्बन  (C'+) का क्षय होता है। C2 स्थायी होता है की Cl 4 क्षय मात्रा से स्थायी C2 के तुलना करने पर जीवाश्मों की उम्र का पता लगाया जाता है।

10. अभिकेन्द्र बल सदैव कार्य करता है-

(A) केन्द्र की ओर त्रिज्या के अनुदिश त्रिज्या के अनुदिश
(B) केन्द्र से
(C) परिमाण परिवर्ती किन्तु दिशा अपरिवर्ती दूर
(D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर (A)

अभिकेन्द्र बल सदैव केन्द्र की ओर त्रिज्या के अनुदिश कार्य करता है। अभिकेन्द्र बल  F = m v² / r 

इसी अभिकेन्द्र बल के कारण मोड़ पर साइकिल या मोटर
साइकिल सवार अन्दर की ओर झुक जाता है।


अभिकेंद्रीय बल (Centripetal force) के उदाहरण-
  1. गोल घूमते हुए झूले पर बैठे लोग अभिकेंद्रीय बल के कारण बाहर की और चले जाते है
  2. जब हम किसी रस्सी से गेंद को बांधकर रस्सी के एक छोर को पकड़कर चारों और घुमाते है तो उस रस्सी में जो तनाव पैदा होता है वह उस गेंद को केंद्र के इर्द गिर्द ही घूमता है यह अभिकेंद्रीय बल कहलाता है
  3. पृथ्वी के चारो और सूर्य जो परिक्रमा मार रहा है वह गुरुत्वाकर्षण बल से मरता है और यह भी अभिकेंद्रीय बल है

ऐसे ही और भी महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर और परीक्षोपयोगी सामग्री के लिए आप हमारा यह ब्लॉग www.getsetgk.com फॉलो करे और अपने मित्रो के साथ भी whatsapp button पर क्लिक कर साझा करें



WhatsApp

Post a comment

5 Comments

  1. How to Install a Blogger Template - Upload a Professional Blogger Theme For Your Blog

    https://bloggerseo-tool.blogspot.com/2020/09/how-to-install-blogger-template-upload.html

    ReplyDelete
  2. How to Install a Blogger Template - Upload a Professional Blogger Theme For Your Blog

    https://bloggerseo-tool.blogspot.com/2020/09/how-to-install-blogger-template-upload

    ReplyDelete
  3. https://bloggerseo-tool.blogspot.com/2020/09/how-to-install-blogger-template-upload.html

    ReplyDelete